Home - शारीरिक स्वास्थ्य - बच्चेदानी में सूजन | Swollen Uterus or Enlarged Uterus
Swollen Uterus or Enlarged Uterus

बच्चेदानी में सूजन | Swollen Uterus or Enlarged Uterus

बच्चेदानी में सूजन | Swollen Uterus or Enlarged Uterus

Swollen Uterus or Enlarged Uterus

Swollen Uterus or Enlarged Uterus कई बार महिलाओ की बच्चेदानी में सूजन आ जाती है, जो की बदलते मौसम के कारण से बच्चेदानी को प्रभावित करता है जिससे महिलाओ को बहुत दर्द उठाना पड़ता है. इसके कारण भूख नही लगती और सर दर्द, बुखार, कमर दर्द व पेट दर्द जैसे लक्षण दिखाई देते है.

बच्चेदानी मे सूजन के कारण

  • बच्चे के जन्म के दौरान लापरवाही के कारण भी बच्चेदानी में सूजन आ सकती है .
  • पेट की मसस्ल्स में कमज़ोरी आने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है.
  • व्यायाम न करने के कारण कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है
  • अधिक सख्त कसरत करने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है .
  • भूख से अधिक भोजन सेवन करने के कारण महिलाओ के बच्चेदानी में सूजन आ जाती है.
  • अधिक तंग फिटिंग वाले कपडे पहनने के कारण भी सूजन हो सकती है .
  • पेट में गैस तथा कब्ज होने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो जाती है.
  • अधिक सहवास/सम्भोग/सेक्स के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है .
  • कुछ विशेष दवाइयों का अधिक सेवन करने के कारण भी बच्चेदानी में सूजन हो सकती है.

बच्चेदानी में सूजन का उपचार

  • बच्चेदानी में सूजन से पीड़ित महिला को तेज मसाले, मिर्च, तली हुई चीजें और शुगरवाली चीजों से परहेज रखना चाहिए .
  • रेवन्दचीनी की 15 ग्राम की मात्र में पीसकर आधा आधा ग्राम पानी में दिन में दिन बार लेना चाहिए. इससे सूजन कम हो जाती है .
  • पीड़ित महिला को 2-3 बार अपने पैर कम से कम एक घंटे के लिए एक फुट ऊपर उठाकर लेटना चाहिए और आराम करना चाहिए.
  • सूजन को कम करने के लिए रोगी को 4–5 दिनों तक फलो का जूस पीकर उपवास करना चाहिए. उसके बाद बिना पका हुआ संतुलित भोजन लेना चाहिए.
  • अरंडी के पत्तों का रस छानकर रुई छानकर रुई भिगोकर बच्चेदानी के मुंह पर 3-4 दिनों तक रखने से सूजन मिट जाती है.
  • नीम, सम्भालू के पत्ते और सोठ को मिलकर काढ़ा बनाकर जननांग में लगाने से सूजन कम होती है.
  • Swollen Uterus or Enlarged UteruS

MUST READ:

Check Also

hotho ko swasth kaise rkhe How to keep lips healthy

होंठों को स्वस्थ कैसे रखे। How to keep lips healthy

होंठों को स्वस्थ कैसे रखे। How to keep lips healthy Hotho Ko Swasth Kaise Rkhe …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

UA-110862200-1