Home - शारीरिक स्वास्थ्य - उत्सर्जन सम्बन्धी बीमारियाँ - पेशाब के रुक जाने की समस्या से निजात पाए
URINARY RENTION

पेशाब के रुक जाने की समस्या से निजात पाए

सम्पूर्ण विवरण पेशाब के रुक जाने की समस्या से निजात पाने का…

URINARY RENTION 1024x576 - पेशाब के रुक जाने की समस्या से निजात पाए

पेशाब का रुक जाना या बूंद बूंद करके पेशाब आने को मेडिकल टर्मिनोलॉजी में RETENTION OF URINE OR URINARY RETENTION कहा जाता हैं. इस बीमारी में यूरिन (पेशाब/मूत्र) मूत्राशय में तो पहुँच जाता है परन्तु मूत्राशय से बाहर नही निकल पाता है. जिससे मूत्राशय भर कर फूल जाता है और तेज दर्द होना शुरू हो जाता है. इस जिसके कई कारण है. सबसे गंभीर बात तो यह है की इस इक्कठे हुए मूत्र से बैक्टीरियल इन्फेक्शन होने का खतरा बढ जाता है और जलन होना शुरू हो जाती है. आइये जानते है की क्या वे कारण है और उनका निवारण कैसे किया जाता है.

पेशाब/मूत्र के रूकावट के कारण

  • मूत्र मार्ग में किसी प्रकार की रूकावट आना. जैसे- स्टोन/पथरी की वजह से मूत्र मार्ग बाधित होना, बी.पी.एच. नामक बीमारी, मूत्राशय की सरंचना में विकार आना, मूत्राशय के वाल्व का सही तरीके से काम ना करना, मूत्र मार्ग में फाइब्रोसिस हो जाना, मूत्र मार्ग में खून का थक्का (ब्लड क्लॉट) बनना, गांठ (ट्यूमर) का बनना इत्यादी ऐसी समस्याए है जो मूत्र मार्ग को बाधित कर मूत्र को शरीर से बाहर आने नही देती. जिससे मूत्र मूत्राशय में ही इक्कठा होता रहता है.
  • मूत्राशय से या मूत्राशय तक SENSORY INPUT कम होना
  • मूत्राशय की पेशियों (MUSCLE) का तनाव
  • चिंता (ANXIETY) करना
  • मूत्राशय पर व मूत्राशय के आसपास की गयी शल्य क्रिया (SURGERY)
  • कुछ विशेष प्रकार की दवाओ का सेवन करना भी यूरिनरी सिस्टम पर विपरीत प्रभाव उत्पन्न कर पेशाब/मूत्र के रूकावट के कारण बनता है.
  • मलाशय में मल की ज्यादा मात्रा भी मूत्रमार्ग पर प्रेशेर डालती है जिससे मूत्रमार्ग बाधित होता है और मूत्र बाहर नही निकल पाता.

पेशाब/मूत्र के रूकावट के लक्षण

  • मूत्राशय (ब्लैडर=BLADDER) का यूरिन/मूत्र से भर जाने के कारण फूल जाना
  • ब्लैडर में दर्द
  • मूत्राशय में भारीपन और बैचनी का अनुभव
  • सुजन
  • मूत्र त्यागने की तीव्र इच्छा

क्या करे पेशाब/मूत्र के रूक जाने पर

  • सबसे पहले डॉक्टर को दिखाए और उनके द्वारा दी जाने वाली दवाओ को तय समयानुसार ग्रहण करे. डॉक्टर इस परिस्तिथि में मूत्र मार्ग में एक टयूब डालकर ब्लैडर को खाली करते है जिससे तुरंत राहत मिलती है और इस मार्ग में आने वाले क्लॉथ और स्टोन भी अपनी जहग से खिसक जाते है.
  • पीने में गर्म पेय का इस्तेमाल करे.
  • बहते पानी की आवाज सुनना
  • गर्म पानी से टब को भरकर उसमे बैठने से मूत्राशय की सिकाई होगी और पेशीय शिथिल (लूस) हो जाएगी और मूत्र बाहर आने में सहायता मिलेगी.

पेशाब/मूत्र के रूकावट हेतु कुछ घरेलु उपाय

  • पेशाब का रुक रुक कर आता हो तो गुनगुना पानी पीना सबसे अच्छा  उपाय है।
  • निम्बू के बीज पीस कर इसे नाभि के ऊपर मले और ठंडा पानी डाले।
  • पेशाब खुलकर आये इसके लिए चीनी और जीरा बराबर मात्रा में पीस ले और इसके दो चम्मच सेवन करें.
  • खरबूजा और ककड़ी के रस का लेने से यूरिन ज्यादा मात्र में बनता है और जिन लोगो में यूरिन नही बना रहा है उन्हें इस विधि का इस्तेमाल करना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

UA-110862200-1