Home - दादी के नुस्खें - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2
DADI KE NUSKHE 3

दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

DADI KE NUSKHE 2

दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

A1 606x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

 ❶ लहसुन का रस और कपूर मिलाकर मालिश करने से गठिया के रोग में काफी आराम मिलता है. DADI KE NUSKHE 2

spices flavorings seasoning food 660x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

❷ जिन छोटे बच्चों को मिट्टी खाने की आदत पड़ जाती है और इस कारण उनके पेट के अंदर कीड़े पड़ जाते हैं तथा पेट खराब रहने लगता है. साथ में दर्द भी होने लगता है ऐसी स्थिति में बच्चों को लौंग घिसकर चटायें.

❸ मेहंदी के फूलों को पीसकर लेप करने से फुला का दर्द कम हो जाएगा. DADI KE NUSKHE 2

hockey helmet face sport 45168 660x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

❹ गर्मियों में होने वाली चेहरे पर फुंसियों के होने पर मेहंदी के तेल का लेप लगाए, फुंसियां शीघ्र समाप्त जाएगी.

pexels photo 128403 660x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

❺ एक टिकिया कपूर में थोड़ा सा नींबू का रस मिलाकर सिर दर्द होने पर सिर और माथे पर मले शीघ्र दर्द दूर हो जाएगा.

❻ यदि जांघ में दर्द है तो एक चम्मच अदरक के रस में आधा चम्मच शुद्ध घी मिलाकर पिए, दर्द ठीक हो जाएगा.

‘DADI KE NUSKHE 2’

pexels photo 3 660x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

❼ कमर हाथ पैर जहां कहीं भी दर्द हो वहां पर बेसन डालकर रोजाना मालिश करे. एक बार मालिश किए हुए बेसन को दोबारा काम में लिया जा सकता है. इस प्रकार मालिश करने से दर्द ठीक हो जाता है. DADI KE NUSKHE 2

7 660x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

❽ फोटो पर कच्चा दूध लगाने से होठों का कालापन दूर होता है.

pexels photo 196664 660x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

❾ गुलकंद खाने से एसिडिटी की समस्या दूर होती है.

pexels photo 461418 660x330 - दादी के नुस्खें : सीरीज 2 | DADI KE NUSKHE 2

❿ कान में कीड़ा घुस जाने पर कान को सरसों के तेल से पूरा भर दे चिवड़ा अपने आप बाहर आ जाएगा.


इसे पढना ना  भूले दादी के नुस्खें : सीरीज 1 | DADI KE NUSKHE 1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

UA-110862200-1